Return to previous page
View cart “भगवत्कृपाके चमत्कार” has been added to your cart.

राधाष्टमी-व्रत-महोत्सव को लोग आधुनिक बतलाते है| अत: प्राचीन ग्रंथों के आधार पर श्रीराधा जी को ऐतिहासिकता एवं उनके स्वरूप, महत्व और प्राकट्य के काल-तिथि, वार, समय आदि के साथ ही महोत्सव की महिमा तथा पूजा-विधि आदि का संकलन तथा प्रतिपादन इस पुस्तिका के रूप में पाठकों की सेवा में उपस्थित किया जा रहा है| इससे बहुत-से भ्रम मिटकर कई विषयों की जानकारी हो जाएगी इसमें लिखे अनुसार जानकर, मानकर तथा तदनुसार पूजा आदि का सत्प्रयास करके पाठक श्रीराधाजी की कृपा प्राप्त करेंगे – ऐसी आशा है|

लेखक

पूज्य भाईजी श्रीहनुमानप्रसादजी पोद्दार

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “श्रीराधा-जन्माष्टमी-व्रत-महोत्सव की प्राचीनता, महिमा और पूजा-विधि”

Related Products